The 5-Second Trick For Subconscious Mind Power






अपने ही होंठो को कांटना एक पुरुष के रूप में उसे कभी सेक्सी नहीं लगा… पर औरत के रूप में वो बात ही अलग थी. शुक्र था उस घंटी का जिसने उसे अपने ही बदन के जादू से बाहर निकाला.

Second, as a business operator for an exceedingly long time; I would like to say that your are SPOT ON. Without the need of having “super religious,” the renowned proverb: “As a person thinketh, so is he.

“अच्छा लड़कियों… अब तुम्हारी महारानी आ चुकी है. सुमति कहाँ है? मेरी आज्ञा है कि वो तुरंत मेरे सामने पेश हो और आकर मुझे गले लगाए”, मधुरिमा ने आते ही अपनी हँसने खेलने वाली नौटंकी शुरू कर दी थी.

“डिंग डोंग”, दरवाज़े पर घंटी बजी. आज सुबह से ही घंटी बार बार बज रही थी और हर बार वो घंटी उसके लिए एक नया अनचाहा सरप्राइज लाती थी. पर इस बार इससे सही वक़्त पर घंटी नहीं बज सकती थी. घंटी न बजती तो वो बेकाबू होकर अपने निप्पल को निचोड़ कर मचल उठती और आन्हें भरने लगती, अपने ही होंठो को जोर से कांटने लगती.

वैसे तो सुमति थोड़ी अधिक जवान थी, और नए कदम लेने से कभी घबराती नहीं थी, वो सही मायने में इंडियन लेडीज क्लब की लीडर थी. जबकि अंजलि सबको प्यार देने वाली औरत थी जो एक छोटे गाँव में पली बढ़ी थी. अभी वो अपने रुढ़िवादी माता-पिता के साथ रहती है. उसके माता पिता ने उसकी शादी एक नीता नाम की लड़की से की थी जो कि उसीकी तरह एक गाँव में पली बढ़ी थी. नीता को बचपन से सिखाया गया था कि उसे बस घर परिवार को संभालना है और अपने पति को भगवन मान कर उसकी सेवा करनी है. नीता अपने सास-ससुर की सेवा में कोई कमी नहीं होने देती थी. पर जबसे उसने बेटी को जनम दिया है, अंजलि के माता पिता ने नीता का जीना मुश्किल कर रखा था. उन्हें तो बेटा चाहिए था. पर अंजलि एक अच्छे पति का कर्त्तव्य निर्वाह करते हुए हमेशा नीता का बचाव करती थी. नीता के लिए, अंजलि एक पुरुष के रूप में सबसे अच्छा पति था… उससे अच्छा कुछ नीता जैसी लड़की के लिए नहीं हो सकता था.

नमते आंटी! आइये आइये आप ही का इंतज़ार था”, सुमति अपने भाई रोहित की आवाज़ सुन रही थी. आखिर सुमति के सास-ससुर आ ही गए थे. उसने झट से अपने बालो को पीछे बाँधा और उनसे मिलने के लिए बाहर जाने को तैयार हो गयी. “मुझे जल्दी करनी होगी. वरना उन्हें अच्छा नहीं लगेगा कि उनकी होने वाली बहु उनके स्वागत के लिए बाहर तक नहीं आई. पर क्या मुझे यह फिक्र करनी चाहिए? एक औरत को तैयार होने में हमेशा से ज्यादा समय लगता है.. ये तो वो भी जानते होंगे.”, सुमति यह सब सोचते हुए अपने पल्लू और अपनी साड़ी को एक बार ठीक करते हुए पल्लू को हाथ में पकडे बाहर के कमरे की ओर जाने लगी. उसने अपने हाथों से पल्लू को पीठ पर से अपने दांये कंधे पर से सामने खिंच कर ले आई ताकि उसके स्तन और ब्लाउज को छुपा सके. सुमति एक पारंपरिक स्त्री की तरह महसूस कर रही थी इस वक़्त. उसने एक बार चलते हुए खुद को आईने में देखा. “साड़ी तो ठीक लग रही है. शायद रोहित और चैतन्य की तरह मेरे सास-ससुर को भी याद न होगा कि मैं कभी लड़का थी.

अब सभी निकलने को तैयार थे. चैतन्य ने अपनी कार घर के दरवाज़े पर ले आया. उसके पिताजी उसके साथ सामने बैठ गए. और कलावती, सुमति और रोहित एक साथ पीछे. सुमति बीच की सीट में बैठी थी. अब तो उसकी हाइट कम थी तो उसके पैर बीच की सीट में आराम से आ गए. औरत होने का एक फायदा और!, सुमति सोच कर मुस्कुरा दी. वैसे भी वो अपनी शादी की read more खरीददारी के बारे में सोच कर ही खुश थी. “सुमति बेटा, तुम्हे पता तो है न कि तुम शादी के दिन क्या पहनना चाहोगी?

Previously, it might have seemed unbelievable that we could make our reality by means of this process. But now we understand how to do it, and why it really works. Since our views are Electricity, it only is sensible that repeated images, affirmations, deeply held beliefs, fears and desires would have an impact on our personal truth by vibrating within the more substantial World-wide-web of truth. The truth is, if we've been all related, how could it be normally?

"It's so amazing to assemble these Suggestions and utilize them to go after everyday living. I really like to learn I am able to rely on you with numerous attention-grabbing topics. Many thanks. "..." extra NS Narayana Swamy

भाई को गले लगाना कोई बड़ी बात थोड़ी है. सुमति भी तो एक लड़के के रूप में हमेशा अपने भाई से मिलने पर गले लगाती थी. पर अब कुछ Subconscious Mind Power बदल गया था. अब उसके बड़े स्तन भी थे जो गले लगाने के बीच में आते थे.

These are definitely solid claims, as well as the authors admit that there's Significantly work to try and do as we start to check out the power and get to of our unconscious minds. Like icebergs, the vast majority of Procedure of our minds stays out of sight. Experiments such as this provide a glimpse beneath the floor.

” Does this suggest each check here individual condition will clear up instantly? No…But, In the event you, as Leo mentioned, talk to by yourself the appropriate question and pray and/or meditate the right way; it is astounding what you'll receive Therefore. Usually, it’s a thing better yet than Everything you asked for.

“जुग जुग जियो बेटी!”, उसके ससुर प्रशांत ने उसे आशीर्वाद दिया. “बेटी तुम्हारी जगह मेरे कदमो में नहीं मेरे दिल में है.”, उसकी सास कलावती ने नज़र उतारते हुए सुमति को फिर गले से लगा लिया. गले लगाते ही सुमति को माँ का प्यार महसूस हुआ. सुमति के चेहरे पर एक ख़ुशी भरी मुस्कान थी. उसे ऐसा अनुभव तो मधुरिमा के साथ भी होता था जो उसकी क्रॉस-ड्रेसर माँ थी.

After you have this image in the mind, will not Enable go of it! You must center on this visualization to vary your subconscious mind and make your desires occur accurate.

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15

Comments on “The 5-Second Trick For Subconscious Mind Power”

Leave a Reply

Gravatar